Now Reading
वर्ल्ड ब्लड डोनर डे -रक्तदान करना है बहुत ज़रूरी

वर्ल्ड ब्लड डोनर डे -रक्तदान करना है बहुत ज़रूरी

  • रक्तदान है महादान - जानिए इतिहास और फायदे
2 MINS READ

जीवनदान करने जैसा महादान है रक्तदान। जिसके जरिये किसी जरूरतमंद को जीवनदान मिल सकता है। इसी उद्देश्य के साथ विश्व रक्त दाता दिवस हर साल 14 जून को दुनिया भर में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य रक्त की कमी को पूरा करना और लोगों में जागरूकता फैलना है। ताकि वह किसी का जीवन बचा सकें। जीवन बचाने के उद्देश्य ही इसकी शुरुआत हुई थी, जिसके जनक कार्ल लैंडस्टीनर थे।

कौन है कार्ल लैंडस्टीनर?

वैज्ञानिक कार्ल लैंडस्टीनरका जन्‍म14 जून 1868 को वियना, ऑस्ट्रेलिया में हुआ था। उस समय में ऐसा माना जाता था कि मनुष्‍य में दो तरह का रक्‍त होता है एक अच्‍छा और एक खराब। लेकिनपुराने समय में किसी व्‍यक्ति पर खून (रक्त) चढाना इत‍ना आसान नहीं था और खून के ग्रुप का मैच न होने कारण व्यक्ति की मौत हो जाती थी। लेकिन बाद में कार्ल लैंडस्टीनर ने खून के बारे में काफी अध्‍ययन किया। जिसके बाद यह यह प्रमाणित हुआ कि समी मनुष्‍यों का खून एक तरह का ही होता है। उनके इस खोज से उन्हें रक्‍त समूह का जनक माना जाने लगा।इस खोज के लिए ही कार्ल लैंडस्‍टाईन को सन1930 में नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। ब्लड ग्रुप्स का पता लगाने वाले कार्ल लैंडस्टीनर की याद में विश्व रक्तदान दिवस के रुप में मनाया जाने लगा। 

See Also

रक्तदान करना बहुत जरुरी हैं। इमेज : फाइल इमेज

रक्तदान का महत्व

रक्त (खून) की कब और किसे जरूरत है? कोई नहीं जानता इसलिए इसकी जरूरत हर जगह है। खासकर इलाज के समय अक्सर सुरक्षित रक्त महत्वपूर्ण होता है। यह जीवन को बचाने वाली चिक‍ित्स‍िय जरूरतों में से एक है। सभी प्रकार की आपात स्थितियों जैसे प्राकृतिक आपदा, दुर्घटनाआदि में घायलों के इलाज के लिए रक्त काफी अहम होता है। रक्तदान यह जीवन रक्षक भूमिका निभाता है। रक्त के महत्व और रक्तदान के महत्व को जन-जन तक पहुंचाने के लिए और जागरुकता के लिए विश्व रक्तदाता दिवस महत्व रखता है।

कौन कर सकता है रक्तदान?

  • कोई भी सेहतमंद व्यक्ति जिसकी उम्र 18 साल की है या उससे ज़्यादा की हो।
  • 45 से 50 किलोग्राम से ज़्यादा वज़न होना चाहिए तभी वह रक्तदान कर सकते हैं।
  • रक्तदाता को एचआईवी, हेपाटिटिस बी या हेपाटिटिस सी जैसे रोग न हो।
  • एक बार ब्लड डोनेट करने के बाद 3 महीने के बाद फिर से रक्त दान किया जा सकता है।

कौन नहीं कर सकता है रक्तदान?

  • कोई गंभीर बीमारी या सर्जरी हुई हो
  • डेंगू या चिकनगुनिया हुआ तो रिकवरी के 6 महीने तक नहीं करें
  • ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली महिलाएं रक्‍तदान नहीं कर सकतीं।
  • अगर रक्तदान से 48 घंटे पहले अगर किसी ने किसी प्रकार का नशा किया हो, तो वो भी खून नहीं दे सकता।

रक्तदान के फायदे 

  • हेल्थ चेकअप हो जाता है
  • दिल के लिए अच्छा है
  • लीवर की सेहत में सुधार करने में सहायक है
  • कैंसर का खतरा नहीं होता
  • दूसरों को मदद मिलती है
  • दान के बाद नए ब्लड सेल्स बनते हैं

रक्तदान करके किसी की ज़िंदगी बचाई जा सकती है, इसलिए ये बहुत महत्वपूर्ण है कि समाज में रक्तदान को लेकर जागरूकता बढ़ाई जाए और हर स्वस्थ व्यक्ति को रक्तदान ज़रूर करना चाहिए।

और भी पढ़िये : पर्यावरण बचाने में मदद करेंगे ये 31 छोटे-छोटे कदम

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ