Now Reading
आसपास के माहौल को पॉज़िटिव कैसे बनाएं?

आसपास के माहौल को पॉज़िटिव कैसे बनाएं?

  • वातावरण को पॉज़िटिव बनाने में केवल अच्छा व्यवहार और सोच ही काफी है
2 MINS READ

आज जैसे ही मैं घर से निकली, तो मौसम से लेकर आसपास का वातावरण काफी पॉज़िटिव लग रहा था। ट्रेन में बैठी तो देखा कि आपस में दो लोगों को धक्का लगा, लेकिन एक दूसरे को मुस्कुराते हुए ‘कोई बात नहीं’ कहकर चुपचाप फिर से खड़े हो गए। उनमें प्यार और नम्रता का भाव झलक रहा था। काश…. ऐसा दिन हमेशा हो…जैसा आज मुझे महसूस हो रहा है….शांत और अच्छा……। कोई शोर नहीं, कही कोई दिक्कत नहीं, जैसे सभी ओर पॉज़िटिव ऊर्जा बह रही हो।

हमारे आसपास ढेर सारी पॉज़िटिव ऊर्जा होती है, तो सब अच्छा लगता है। हम खुशी को महसूस कर पाते हैं। वातावरण में हमें कुछ खास ऊर्जा का एहसास होता है जिसके होने से हमें सुकून मिलता है। हम भी अपने आसपास के वातावरण में पॉज़िटिव ऊर्जा का संचार कर सकते हैं। उससे पहले जानते हैं पॉज़िटिव वातावरण के बारे में –

पॉज़िटिव वातावरण क्या है?

अगर सरल शब्दों में कहा जाए, तो पॉज़िटिव वातावरण को अच्छे और शांत माहौल से जोड़ा जा सकता है। जहां लोगों के मन में सद्भाव और एक-दूसरे के लिए अच्छे विचार हो। किसी प्रकार की कोई नेगेटिव भावनाएं या दुश्मनी न हो। इस तरह के वातावरण में शांति और खुशी के माहौल का अहसास होता है।

वातावरण को पॉज़िटिव बनाने के उपाय

हमारे आसपास का वातावरण जैसा होता है हम लोग वैसे ही हो जाते है, इसीलिए पॉज़िटिव विचार रखना बहुत महत्वपूर्ण है। हमारे आसपास के माहौल से जीवन में पॉज़िटिव ऊर्जा लाई जा सकती है। यह व्यक्ति के व्यवहार पर और उसके दृष्टिकोण पर निर्भर करता है। जैसे कि –

See Also

सही सोच रखें

वातावरण में पॉज़िटिविटी लाने के लिए सबसे पहले ज़रूरी है कि खुद भी पॉज़िटिव सोचें। पॉज़िटिव दृष्टिकोण से आसपास के लोगों को देखें और उन्हें समझें।

सही करें

यह ज़रूरी तो नहीं कि जैसे सामने वाला रूखा व्यवहार करें, तो आप भी वैसा ही जवाब दे। अगर आसपास का महौल गुस्सा और चिड़चिड़ापन से भरा है, तो आप उसे शांत कर सकते हैं। एक के जैसे दूसरा भी वैसा ही व्यवहार न करें। अगर कोई गुस्से में या चिल्लाकर बात करें, तो उसे नम्रता और प्यार से बात करने की कोशिश करें, जिससे उस व्यक्ति को शांति मिलें और खुद के व्यवहार में थोड़ा नरमी लाए।   

सही तरीके से जिएं

आसपास के वातावरण को शांत और खुशी से भरने के लिए ज़रूरी है कि ऐसा माहौल बनाएं, जिससे आसपास के लोग हंसे-मुस्कुराएं। जब भी मौका मिले, तो एक दूसरे के जीवन में खुशियां बिखेरने की कोशिश करते रहे। अपनों के साथ बातें शेयर करें और उनके साथ समय बिताकर अपनी भावनाओं को व्यक्त करें।

नेगेटिव बातों से दूरी

वातावरण को शांत और सुंदर बनाने के लिए सभी तरह की नेगेटिव बातों से दूर रहे और मन ही मन कुछ पॉज़िटिव सोचते रहे, ऐसा करने से व्यक्ति की सोच हमेशा पॉजिटिव रहेगी। इससे व्यक्ति के नेगेटिव विचार वातावरण में फैलने से बचेंगे। नेगेटिव बातों को दोहराने से बेहतर है कि कुछ पॉज़िटिव बाते करें या पॉज़िटिव लोगों के साथ रहे, ताकि नेगेटिव बातों की तरफ ध्यान ही न रहे।  

सेहत पर ध्यान

अगर व्यक्ति की सेहत खराब होती है, इसका असर व्यक्ति के सोच के साथ आसपास के वातावरण पर भी पड़ता है। वातावऱण को पॉजिटिव रखने के लिए सबसे ज़रुरी है कि सेहत पर ध्यान दे और योग और मेडिटेशन करें। इससे व्यक्ति मानसिक और शारीरिक फिट रहेगा और व्यक्ति के मन के साथ वातावरण से नेगेटिविटी का दूर होगी।

याद रखें, अच्छे विचार और व्यवहार आपके आसपास के माहौल को बदलने में मदद करते हैं। इसलिए हमेशा शांत और पॉज़िटिव सोचे और व्यवहार करें।

और भी पढ़िये : टीनेजर्स को सिखाएं मनी मैनेजमेंट

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

©️2018 JETSYNTHESYS PVT. LTD. ALL RIGHTS RESERVED.