Now Reading
बेज़ुबान जानवरों की निस्वार्थ सेवा कर रही है मुम्बई की एनजीओ

बेज़ुबान जानवरों की निस्वार्थ सेवा कर रही है मुम्बई की एनजीओ

  • कोरोना की दूसरी लहर ने ‘वर्ल्ड फॉर ऑल एनिमल एडोपशन’ एनजीओ के काम में काफी रूकावट डाल दी
2 MINS READ

हर दिन हम ख़बरों में देखते आ रहे हैं कि ऐसे बहुत से  लोग हैं जो बेसहाय, गरीब लोगों की मदद करते है।  हमें यह देखकर बहुत खुशी होती है कि इतने सारे लोग वास्तव में इंसानियत को जिंदा रखने के लिए आगे आ रहे हैं। जहां लोग इस कठिन समय में एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं, वहीं बहुत से लोग बेज़ुबान जानवरों की भी बढ़ चढ़कर मदद कर रहे हैं। पशु कल्याण संगठनों के वालंटियर्स उनके खाने-पीने से लेकर सुरक्षा के इंतज़ाम कर रहे है।

मुम्बई की एनजीओ कर रही है सेवा

मुम्बई की World for all animal adoption भी ऐसी ही एनजीओ है, जो पिछले 11 वर्षों से लाखों आवारा पशुओं की सेवा और देखभाल करने के लिए बहुत मेहनत कर रही है। WFA  टीम सीमित संसाधनों और निस्वार्थ भाव से कोरोना काल  की पहली लहर से लेकर अब तक अपने सेवा भाव को जारी रखा है। पिछले साल भी टीम ने पूरी ईमानदारी और बहादुरी के साथ काम किया। टीम किसी भी दुर्घटनाग्रस्त जानवर को बचाते हैं और उनकी सेवा करते हैं। आज जब लोग अपने घरो में महंगे कुत्ते और दूसरे जानवर पालते हैं तो ऐसे में सड़क के किनारे ठोकर खाने वाले कुत्तों और दुसरे बेजुबान जानवरों की मदद का बेड़ा WFA टीम ने उठा रखा है। 

कोरोना की दूसरी लहर ने कर दी मुश्किल

कोविड की दूसरी लहर के चलते एनजीओ के पास संसाधनों की सख्त कमी हो गई है। इसी वजह से बेज़ुबानों की देखभाल के काम में एनजीओ के वालंटियर्स को परेशानी आने लगी है।

उनके इस निस्वार्थ भाव को आगे बढ़ाने के लिए हम, आप उनकी मदद के लिए आगे आ सकते हैं। उनकी मदद करके हम अपनी इस प्यारी सी दुनिया को एक बेहतर जगह बना सकते हैं। आप भी एक साथ आकर ऐसे बेजुबान और बेसहारा जानवरों को अपने घर में जगह देकर या टीम आर्थिक मदद करके इनकी सेवा कर सकते हैं।

आप इस लिंक पर जाकर मदद कर सकते हैं।

और भी पढ़िये :  एक बार ज़रूर बनाएं रसीले अनानास की 5 खट्टी-मीठी रेसिपी

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ