Now Reading
कोविड-19 और सामान्य फ्लू के अंतर के लक्षणों में कितना अंतर है?

कोविड-19 और सामान्य फ्लू के अंतर के लक्षणों में कितना अंतर है?

  • सामान्य फ्लू के लक्षण कोविड काफी हद तक एक जैसे हैं, लेकिन इसके अंतर को समझना ज़रूरी है

कोविड 19 के मामलों में भले ही थोड़ी गिरावट आई है, लेकिन सर्दी का मौसम शुरु होते ही फ्लू, सर्दी-जुकाम ने भी ज़ोर पकड़ लिया है। ऐसे में लोग कोरोना और फ्लू के लक्षणों को समझने में असमर्थ हो रहे हैं। इसलिए सामान्य फ्लू और कोविड-19  के लक्षणों में अंतर को समझना जरूरी है ताकि आप बिन डरे अपना ख्याल रख सकें।

फ्लू और कोविड-19 के क्या लक्षण हैं?

कोविड-19 और फ्लू के अधिकांश लक्षण एक जैसे ही होते हैं जैसे- बुखार, ठंडी लगना, खांसी, सांस लेने में परेशानी, गले में खराश, नाक बहना, शरीर में दर्द, सिरदर्द, उल्टी और दस्त। ध्यान देने वाली बात यह है कि कोरोना के अधिकांश मामलों में पाया गया है कि मरीजों के सूंघने और स्वाद की क्षमता चली जाती है जो फ्लू में नहीं होता है। हालांकि, कोविड-19 के लक्षण हर किसी में अलग-अलग होते हैं, कुछ में लक्षण ही नहीं दिखते हैं तो कुछ मरीजों में अति गंभीर लक्षण दिखते हैं। ऐसे में थोड़ी भी समस्या होने पर डॉक्टर से परामर्श लेना ज़रूरी है।

फ्लू और कोविड-19 के बीच कोई कैसे अंतर कर सकता है?

लक्षणों के आधार पर फ्लू और कोविड-19 में अंतर कर पाना बहुत मुश्किल है, क्योंकि इसके लक्षण तकरीबन एक जैसे ही हैं। इसलिए बिना लैब टेस्ट के कोई यह नहीं कह सकता कि संक्रमण फ्लू का है या कोरोना का। यदि आपको फ्लू या कोरोना के कोई लक्षण दिख रहे हैं तो खुद को आइसोलेट कर लें और तुरंत डॉक्टर को फोन करें। फ्लू के लक्षण आमतौर पर संक्रमित होने के एक से चार दिनों में दिखने लगते हैं और इससे मरीज ठीक भी जल्दी हो जाता है, जबकि कोविड-19 के लक्षणों को उभरने में 5 से 14 दिन तक का समय लग जाता है और मरीजों को ठीक होने में भी अधिक समय लगता है।

See Also

यदि किसी में लक्षण दिखने लगे, तो उसे क्या करना चाहिए?

यदि आपको फ्लू या कोरोना के कोई भी लक्षण दिखने शुरू होते हैं, तो सबसे पहले खुद को घर में ही अलग कर लें यानी घर के किसी भी सदस्य के संपर्क में न आएं। फ्लू और कोरोना दोनों के ही वायरस बहुत तेजी से फैलते हैं, इसलिए खुद को अलग करने के बाद तुरंत अपने डॉक्टर से उपचार के बारे में बात करें। इस दौरान सेहतमंद चीज़ें खाएं, आराम करें और खुद को हाइड्रेट रखें। यदि आपको लगता है कि लक्षण गंभीर हो रहे हैं जैसे छाती में दर्द, चिड़चिड़ापन, सांस लेने में परेशानी ज्यादा होना, होंठ और चेहरा नीला पड़ रहा है तो तुरंत डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

क्या फ्लू का टीका कोविड-19 से बचाव कर सकता है?

नहीं, कोविड-19 का संक्रमण नोवेल कोरोना वायरस, जिसे SARS-CoV-2 भी कहा जाता है, के कारण फैलता है, जबकि फ्लू के लिए एन्फ्लूएंजा वायरस जिम्मेदार है, इसलिए फ्लू का टीका कोरोना से बचाव नहीं कर सकता है।

क्या कोई व्यक्ति एक साथ फ्लू और कोविड-19 से संक्रमित हो सकता है?

विशेषज्ञों के अनुसार, इसका जवाब हां है। और ऐसा होने पर मरीज की परेशानी बढ़ सकती है क्योंकि उसे एक साथ दो रिस्पेरिट्री वायरस से लड़ना पड़ता है।

पूरी दुनिया में कोरोना की दहशत को देखते हुए तो बस यही कहा जा सकता है कि आने वाले साल में भी मास्क, सैनिटाइजर, दो गज की दूरी और बार-बार हाथ धोने के नियमों का पालन करना होगा और खासतौर पर ठंड के मौसम में खुद को किसी भी तरह के संक्रमण से बचाने के लिए अधिक एहतियात बरतने की आवश्यकता है।

और भी पढ़िये : मन को शांत और एकाग्र रखना है मेडिटेशन- दलाई लामा

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और  टेलीग्राम  पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
1
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FAQ